FasTag क्या है | फस्टैग किसे कहते है और Fastag कैसे काम करता है?

Share the Post

FasTag क्या है? FasTag कैसे काम करता है?

बड़ते वाहनों की संख्य के कारण  हाईवे रोड टोल प्लाजा फीस कलेक्शन सिस्टम को कैश या नगद कलेक्शन की झन्झट को दूर करने के लिए भारत सरकार के  नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया (NHAI) ने FasTag नाम की टेक्नोलॉजी का उपयोग 2014 मे सुरु किया और बाद मे इसे धीरे धीरे अभी पूरी इंडिया मे FasTag द्वारा ही टोल प्लाजा फीस कलेक्शन कर रहा है| क्युकी कैश या नगद टोल प्लाजा कलेक्शन मे बहुत साडी दिक्कत आता था, और समय ज्यादा बर्बाद होता था |

FasTag क्या है (Fastag kya hain, Meaning of Fastag in Hindi)

FasTag एक Electronic Toll Collection उपकरण है जो की हाईवे रोड टोल प्लाजा मे बिना गाड़ी रुके रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन (RFID) टेक्नोलॉजी द्वारा FasTag प्रीपेड या डायरेक्ट आपकी बैंक खता से भुगतान हो जाता है | यह पूरी प्रक्रिया को मॉनिटर करने के लिए CCTV भी फिक्स्ड रहते है |

यह Fastag  टैग आपकी गाड़ी की फ्रंट स्क्रीन पर चिपका के लगाना होगा, आपके वाहन जैसे ही टोल प्लाजा के पास पहुचता है तो टोल प्लाजा पर लगा सेंसर आपके वाहन के विंडस्क्रीन पर लगा FasTag  स्टीकर के संपर्क मे आते ही आपके फ़ास्टटेक एकाउंट से टोल प्लाजा फीस गाड़ी बिना रुके ही कैश या नगद की जगह आटोमेटिक भुगतान हो जाता है और टोल प्लाजा से वाहन ड्राइव करना सक्षम बनता है यानि भुगतान होने के बाद ही बूम बैरियर खुलता है | लेकिन आपके फस्टैग एकाउंट मे पैसा की मौजूद होना जरुरी है नहीं तो अगर टोल प्लाजा भुगतान नहीं हो पाता तो आपके डबल पैसा देना पड़ता यानि फाइन लग जाता |

FasTag एक 10 x 5 सेंटीमीटर आयातकार की स्टीकर होते है और यह बहुस्तरीय अच्छे गुणवता वाले कागज से बने होते है जिसमे इसकी परंतो के अंदर चिप (Chip) और अन्टीना (Antenna) होता है | इसे वाहन की विंडस्क्रीन पर चिपकाया जाता है और रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन (RFID) विधि के माध्यम से टैग द्वारा टोल प्लाजा पर जानकारी पड़ी जाती है | आपके नाम पर फ़ास्ट टैग खरीद करने के बाद आपको पैसा रिचार्ज करना होगा, और रेचाज ख़तम होने पर फिर से रिचार्ज करना होगा |

इस फ़ास्टटैग की बैधता या वैलिडिटी 5 साल की होती है और 5 साल पूरा होने पर फिर से नया फ़ास्टटैग लगाना पड़ेगा, लेकिन कुछ कारन आपकी फस्टैग की खराबी होने पर फिर से नया लगाना पड़ता है |

FasTag कैसे काम करता है?

यह Fastag  टैग आपकी गाड़ी की फ्रंट स्क्रीन पर चिपका के लगाना होगा, आपके वाहन जैसे ही टोल प्लाजा के पास पहुचता है तो टोल प्लाजा पर लगा सेंसर आपके वाहन के विंडस्क्रीन पर लगा FasTag  स्टीकर के संपर्क मे आ जाते है और आपके एक्टिव फस्टैग  एकाउंट से टोल प्लाजा फीस, गाड़ी बिना रुके ही आटोमेटिक भुगतान हो जाता है और टोल प्लाजा से वाहन ड्राइव करना सक्षम बनता है यानि भुगतान होने के बाद ही बूम बैरियर खुलता है और पापकी वाहन आसानी से टोल गेट क्रासिंग कर सकता है |

 

फस्टैग (FasTag) कहा से मिलेगा?

फस्टैग जारीकर्ता से आपको टैग मिलेगा जो की राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन (NETC) द्वारा अधिकृत आजकल Paytm, Fastag मर्चेंट और कुछ बैंक ICICI Bank , SBI, Axis Bank, IDBI, Canara Bank, HDFC, United Bank  द्वारा भी FasTag प्रदान करता है | इसे आप ऑनलाइन या बैंक है तो ऑफलाइन द्वारा भी खरीद कर सकते है |

 

FasTag के लिए क्या क्या डॉक्यूमेंट की जरुरत होता है ?

  1. वाहन के रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट (RC)
  2. वाहन मालिक का पासपोर्ट साइज़ फोटो
  3. वाहन मालिक के KYC दस्ताबेज (आधार, PAN, Voter ID, DL) |
  4. वाहन मालिक के एड्रेस प्रोफ |

Fastag online apply कैसे करे? (How to Apply Fastag online)

Fastag टैग ऑनलाइन अप्लाई करने के लिए आपको अपना कुछ दस्ताबेज तैयार करना होगा और राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन (NETC) द्वारा अधिकृत बैंक या Fastag मर्चेंट के ऑफिसियल वेबसाइट मे जाके ऑनलाइन अप्लाई कर सकते है | अभी के जनप्रिय Paytm से भी ऑनलाइन fastag अप्लाई कर सकते है |

Fastag अप्लाई करने के लिए आपको निचे दिए दस्ताबेज जरुरत होता है

  • वाहन के रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट (RC)
  • वाहन मालिक का पासपोर्ट साइज़ फोटो
  • वाहन मालिक के KYC दस्ताबेज (आधार, PAN, Voter ID, DL, Passport) |
  • वाहन मालिक के एड्रेस प्रोफ |

 

FasTag की सुबिधा क्या क्या है (Benifit of FasTag in Hindi)

लम्बी क़तर से बचे: टोल प्लाजा में अगर कैश या नगद कलेक्शन होता तो बहुत लम्बी लाइन होता, लेकिन फ़ास्टटैग के होने के कारन उस लम्बी लाइन लगने से बचे |

समय की बचाओ : फ़ास्टटैग के कारन टोल प्लाजा मे रुकने की जरुरत नहीं पड़ते इसीलिए समय की बचाओ होता है |

पेट्रोल की बचत : Fastag द्वारा समय कम लगने पर आपकी गाड़ी की पेट्रोल भी बच जाते है |

कैशलेस की सुबिधा: Fastag के द्वारा कोई कैश या नगद लेके घुमने की जरुरत नहीं है और साथ ही साथ कैश की छुट्टा की दिक्कत से भी दूर हो सकता है |

SMS की सुबिधा : आपकी टोल कितना भुगतान हुवा है आपको SMS द्वारा जानकारी दिया जाता है |

रिचार्ज अलर्ट : आपकी Fastag की राशी कम या ख़तम होने पर sms अलर्ट से आपको पता चलता है |

कैशबैक : Fastag इस्तेमाल करने पर आपकी भुगतान कि हिसाब से 2.5% से कैशबैक भी प्रदान करता है |

 

जीरो बैलेंस की फ़ास्टटैग क्या है (Zero Balance FasTag)

भारत सरकार के अनुसार कुछ उच्च पदाधिकारी या मंत्री, विधायक, VIP लोगो को बिना टोल प्लाजा फीस आनेजाने अनुमति दी गई है | उन लोगो के लिए जो FasTag होता है वह जीरो बैलेंस की होता है, उससे कोई पैसा भुगतान नहीं होता केवल FasTag टैग से  बूम बैरियर ऑपरेट होता है और टोल खुलता है |

 

FasTag का फुल फॉर्म क्या है (Full form of FasTag)

FasTag एक इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन सिस्टम है| FasTag अक ऐसे उपकरण है जो की रोड टोल प्लाजा मे बिना गाड़ी रुके Radio Frequency Identification (RFID) टेक्नोलॉजी द्वारा FasTag प्रीपेड या डायरेक्ट आपकी बैंक खता से भुगतान हो जाता है और टोल बूम बैरियर खुल जाता है ताकि वाहन आसानी से क्रोस हो सके |

 

FasTag कहा से रिचार्ज करे (How to recharge Fastag)?

Fastag का रिचार्ज आप आसानी से ऑनलाइन रिचार्ज कर सकते हो, ऑनलाइन Paytm, Google Pay, PhonePe आदि अप्प्स द्वारा अपनी Debit Card, Credit Card, UPI, NEFT आदि से अपनी Fastag कार्ड की रिचार्ज पेमेंट कर सकते है |

 

FasTag की कीमत कितना है?

FasTag की कीमत नेशनल पेमेंट कारपोरेशन ऑफ़ इंडिया (NCPI) द्वारा फिक्स्ड किया जाता है | Fastag की कीमत अभी 100 रुपए तय की है और यह नॉन-रेफंदेबल है, इसके अवाला भी 200 रुपए सिक्यूरिटी डिपोजिट देनी पड़ती है |

 

फस्टैग (Fastag) की कस्टमर केयर नंबर क्या है (FatsTag Helpline number)?

Fastag Customer care number:

Paytm FasTag Customer care no          –  1800-120-4210

Airtel Fastag customer care number   – 400/8800-688-006

Axis Bank Fastag Helpline number    – 1860-419-8585

ICICI Bank Fastag Helpline number – 1800-210-0104

HDFC Bank Fastag Helpline number -1800-120-1243

Kotak Mahendra Bank Fastag  customer care – 18602-666-888

SBI Bank Fastag Customer care no       – 1800-110-018

IDBI Bank Customer care no              -1800-266-1962

Yes Bank Fastag Customer Care no – 1800-3000-1113

 

भारत मे FasTag कब सुरु हुवा (When Fastag start in India)?

भारत मे Fastag की सुरुवात 4 नोबेम्बेर 2014 से सुरु हुवा है और यह अभी 2021 तक पूरी भारत के टोल प्लाजा पर लग चूका है, अभी तक लगभग 600 से ज्यादा टोल प्लाजा मे fastag इस्तेमाल हो रहा है |

Fastag के बारे मे हमने क्या सिखा (FAQ)


1) FasTag क्या है (Fastag kya hain) ?

उत्तर: FasTag एक Electronic Toll Collection उपकरण है जो की हाईवे रोड टोल प्लाजा मे बिना गाड़ी रुके रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन (RFID) टेक्नोलॉजी द्वारा FasTag प्रीपेड या डायरेक्ट आपकी बैंक खता से भुगतान हो जाता है | इस प्रक्रिया को फस्टैग कहते है |

2) Fastag का मालिक कौन है (Owner of Fastag)?

उत्तर:  Fastag राष्ट्रीय राजमार्ग यानि National Highway Authority of India (NHAI) के अधीन चलते है | इसका मालिक या ओनर नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया है |

3) Fastag की स्थापन कब हुई (When start Fastag)?

उत्तर:  FasTag की स्थापन 4 नोबेम्बेर 2014 से सुरु हुई थी |

4) Fastag की मुख्य कार्यालय कहा है (Headoffice of Fastag)?

उत्तर:  Fastag की मुख्य कार्यालय द्वारका (Dwarka), दिल्ली मे है |

5) क्या Fastag लगाना अनिवार्य है ?

उत्तर: 01 जनवरी 2021 से फस्टैग अनिवार्य हो गया है भारत के सभी टोल प्लाजा पर, तो आपके वाहन मे Fastag लगाना भी अनिवार्य है |

6) Fastag की वैलिडिटी कितनी है ?

उत्तर: Fastag की वैलिडिटी 5 वर्ष है, अगर इसके भीतर भी आपकी टैग मे खराबी आती है तो आपके मर्चेंट बैंक से संपर्क करने पर नए fastag मिल जाएगा|

7) फस्टैग एक्टिव कैसे करे ?

उत्तर: My FasTag और FasTag मोबाइल अप्प्स द्वारा Fastag एक्टिव कर सकते है |

8) Fastag रिचार्ज कैसे करे (How to recharge Fastag online)?

उत्तर:  ऑनलाइन Google Pay, Paytm, PhonePe आदि अप्प्स द्वारा अपना डेबिट, क्रेडिट या UPI, NEFT आदि  के माध्यम से Fastag रिचार्ज कर सकते है |

9) Fastag complaint कैसे दर्ज करे (How to complaint for Fastag)?

उत्तर : टोल फ्री नंबर 1033 इस नंबर पर कल करके अपनी कंप्लेंट दर्ज कर सकते है |

 

अंतिम अंश 

आशा करता हु की हमारी इस लेख Fastag क्या है (Fastag kise kahate hain) और Fastag कैसे काम करता है, की बारे मे जानकारी देने की कोशिश किया हु सायद आपको पसंद आया होगा, अगर मन मे कोई सवाल या संका है तो निचे कमेंट बॉक्स मे लिख सकते है |


Share the Post

Leave a Comment