कंप्यूटर के सॉफ्टवेर क्या है? What is computer Software in Hindi?

कंप्यूटर के सॉफ्टवेर क्या है और इसके प्रकार 

इस लेख में हम जानेंगे की कंप्यूटर के सॉफ्टवेर क्या है? (what is software in Hindi)| कंप्यूटर system में बिभिन्न कामो को करने के लिए अलग-अलग application या programmer की जरुरत होते है, इसका कोई भौतिक रूप नहीं होता, इसे हम छु नहीं सकते लेकिन देख सकते है| उसी application या programmer को software कहते है | उदहारण – MS Word, MS Excel, power-point, Photoshop, Page-maker आदि|

अगर आपका खोज भी कंप्यूटर के सॉफ्टवेर क्या है और इसके प्रकार (what is computer software in Hindi?) के बारे मे है तो आप सही लेख पर है और लेख के अंत तक बने रहे, ताकि पूरी जानकारी मिल पाए|

 

कंप्यूटर के सॉफ्टवेर क्या है? What is  Software in Hindi?

कंप्यूटर के नाम सुनते ही हमारे मन में मोनिटर, माउस, कीबोर्ड, CPU, MS word, MS Excel, power-point आदिके बाते याद आ जाते है | ये सभी कंप्यूटर के parts और प्रोग्राम है, जिसके बिना कंप्यूटर अधुरा है और एक दुसरे से जुड़े रहते है ताकि अलग-अलग कामो को अलग-अलग उपकरण या प्रोग्राम  की सहायता से आसानी से कर सके | इसी उपकरणों और प्रग्राम को दो भागो में भाग किया है – हार्डवेयर और सॉफ्टवेर | जिसका भौतिक रूप होता है उसे हम देख और छू सकते है उसे हार्डवेयर के नाम से जानते है,जैसे- Monitor, Keyboard, Mouse आदि, और जिसका भौतिक रूप नहीं होता, उसे देख सकते है लेकिन छू नहीं सकते, इसे हम Software के नाम से जानते है| जैसे की – MS Word, MS Excel, Power-point आदि|

हमें पता चला है की सॉफ्टवेर की कोई भौतिक रूप नहीं होते और यह विभिन्न प्रोग्रामो का समूह होता है जो की किसी कार्य को करने के लिए निर्देश देता है, इसे हम अपने हाथ से छु भी नहीं सकते only इसे देख सकते है| अलग-अलग कामो के लिए अलग-अलग software की जरुरत होते है| कंप्यूटर चलने के लिए कुछ application पहले से ही fixed होते है और बाकि अपने कामो के हिसाब से software इनस्टॉल कर सकते है|

 

इसे भी पड़े

कंप्यूटर क्या है?  वेसिक जानकारी 

मेमोरी क्या है  और इसके प्रकार 

आउटपुट डिवाइस क्या है?

इनपुट डिवाइस क्या है ?

हार्डवेयर क्या है और इसके प्रकार 

 

कंप्यूटर software के प्रकार क्या क्या है ?

     Computer Software को मुख्य रूप से दो भागो मे भाग किया गया है –

  • सिस्टम सॉफ्टवेर (System Software)
  • एप्लीकेशन सॉफ्टवेर (Application Software)

 सिस्टम सॉफ्टवेर (System Software):

कंप्यूटर system चलने के लिए भी कोई सॉफ्टवेर या system की जरुरत होते है ताकि उसकी सभी हार्डवेयर को connect करके परिचालना कर सके, मतलब हार्डवेयर को कण्ट्रोल कर सके और काम करने लायक बने, उसे system software कहते है अर्थात कंप्यूटर बनाने के समय में ही कुछ software  या application  fixed करते है| सॉफ्टवेर को भी चार भागो में बाटा है – जैसे –

  • Operating system
  • Device Driver
  • Utility
  • Language Translator

1.Operating system

यह software, device को चलाने या operate करने के लिए उपयोग होते है, ताकि कंप्यूटर सही तरह से common services दे सके, यह यूजर और कंप्यूटर के बिज सम्बन्ध बनाए रखते है ताकि user द्वारा किये गए निर्देश को कंप्यूटर समझ सके, उसके लिए operating system की जरुरत होते है | उदहारण के तोर पर – Windows, Linux, MacOS, IOS, Android (Mobile OS) आदि |

2.Device Driver

ड्राईवर डिवाइस जो कंप्यूटर के हार्डवेयर डिवाइस को connect करने के लिए व्यबहार होते, कोई भी हार्डवेयर कंप्यूटर से connect करना है तो एक कनेक्शन सॉफ्टवेर की जरुरत होते है, जैसे की keyboard को connect करना है तो keyboard डdriver सॉफ्टवेर पहेले से ही रहना है तभी वो काम कर पायेगा | इसके और कुछ उदहारण -Printer Driver, USB Driver, sound card, video adapter driver आदि

3.Utility

यह एक service program है, जो की कंप्यूटर में चल रहे सभी software और हार्डवेयर को सूरक्षित रखना इसका मुखय कम है | यह कंप्यूटर ली tool kit या maintenance के तोर पर भी कम करते है| उदहारण के तोर पर जैसे – Antivirus, Disk, Defragmenter, Disk Cleanup आदि |

4.Language Translator

यह एक programming language है, यूजर से दिए गए instruction को translate करके machine language में translate करते है ताकि कंप्यूटर को समझ आते है की user क्या बोल रहा है और उसे क्या करना है| इसीलिए language translator का उपयोग बहुत जरुरी है|

 

एप्लीकेशन सॉफ्टवेर ( Application Software):

कंप्यूटर में काम करना है तो कोई software की जरुरत होते, बिना software कोई भी काम नहीं कर सकता क्युकि उसमे काम करने का कोई format होना जरुरी होतें है,इसीलिए अलग-अलग कामो के लिए अलग-अलग software की अवश्यक होते है | जैसे की लेनदेन की हिसाब , salary की हिसाब, email भेजना आदि के लिए एक – एक software की जरुरत होते है|

उदहारण के तोर पर निचे दिए गए application software –

Microsoft Word

Microsoft Excel

Microsoft Outlook

MS Power Point

Microsoft Paint

Photoshop

Page-maker

 

हार्डवेयर और सॉफ्टवेर के बिच क्या अंतर है?

  • हार्डवेयर एक मूर्त या भौतिक भाग होता है, जिसे हम देख सकते और चुने या महसूस कर सकते है
  • सॉफ्टवेर एक अमूर्त भाग है, जिसे हम देख कर सकते है लेकिन उसे हम छु नहीं सकते|
  • हार्डवेयर एकबार नष्ट होने से दोबारा बना नही सकते और सॉफ्टवेर एकबार नष्ट होने पर भी फिर से उसे install करके use कर सकते है|
  • हार्डवेयर बनाने के लिए छोटे बड़े machine या पदार्थ द्वारा बनते है, लेकिन सॉफ्टवेर बनाने के लिए coding भाषा की जरुरत होते है|
  • हार्डवेयर टूटने फूटने से खराबी होते है, लेकिन सॉफ्टवेर कोई virus के कारन ख़राब होते है|
  • हार्डवेयर मशीनी स्तर के काम करते है, लेकिन सॉफ्टवेर हार्डवेयर को निर्देश देता है|
  • लेकिन हार्डवेयर और सॉफ्टवेर दोनो एक दुसरे पर निर्भर करते है

 

Conclusion:

आशा करता हु हमारी इस लेख, कंप्यूटर के सॉफ्टवेर क्या है (What is computer software) , और इसके प्रकार, हार्डवेयर और सॉफ्टवेर में क्या अंतर है? में आपको पूरी जानकारी मिल गया होगा| उम्मीद है की हमारी इस लेख पसंद आया होगा| अगर आपका मन में कोई सवाल या सुझाव देना चाहते है तो निचे कमेंट बॉक्स में लिख सकते है

Dhan Lama

मे धन लामा आप सभी को Hindiwebjagat.com पर स्वागत करता हु| इस वेबसईट मे Web Technology, Blogging, Educational, GK Trends News आदि के सठिक और सरल लेख उपलब्ध करता.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *